ऊपर वाले ने दिया छप्पर फाड़ के, आसमान से गिरा सोने का पत्थर

यदि सोने का पत्थर किसान के खेत में गिरे तो निश्चित है कि किसान बेचारा आश्चर्यचकित हो गया होगा

क्या आपने कभी यह सुना है कि आसमान से सोने के पत्थर बरस सकते हैं नहीं तो यह बात हकीकत है और कहा भी गया है कि ऊपरवाला जब भी किसी को देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां किसान बरसात के दिनों में यह सोच आसमान की तरफ तक रहा होता है बारिश होगी लेकिन बारिश की जगह यदि सोने का पत्थर किसान के खेत में गिरे तो निश्चित है कि किसान बेचारा आश्चर्यचकित हो गया होगा और आसमान से गिरे इन पत्थरों को देखता रह जाएगा

आपको इस बात पर यकीन नहीं होगा लेकिन चलिए हम आपको बताते हैं कि यह घटना महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिले के वाशिम की है जहां शुक्रवार को एक किसान जब अपने खेतों में काम कर रहा था तो अचानक आकाश से बारिश की जगह एक पत्थर गिरा जिससे किसान एकदम डर एवं सहम गया वह पत्थर किसान से 7 या 8 फुट की दूरी पर गिरा था शुक्र था कि पत्थर किसान के सर पर नहीं गिरा लेकिन इसके बाद जो हुआ उससे किसान की आंखें खुली रह गई क्योंकि यह कोई मामूली पत्थर नहीं बल्कि एक सुनहरा पत्थर था किसान के खेत में इस घटना के घटित होने के बाद उस्मानाबाद जिले में खलबली मच गई है

यह बात पूरे जिले में जंगल की आग की तरह सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी बिल्कुल सोने की चमक वाला यह पत्थर पूरे 2 किलोग्राम का है जिसको लेकर क्षेत्र में लोग तरह-तरह की बातें करना शुरू कर दिए हैं कि यह पत्थर कैसे दूसरों ग्रह से आया है कौन सा ग्रह ऐसा है जहां पत्थर भी सोने के होते हैं आखिर इस तरह से यह सुनहरा पत्थर किसान के सर के ऊपर ना गिर कर 7-8 फुट दूरी पर गिरा तो यह कोई निश्चित ही कुदरती करिश्मा है यह कोई साधारण घटना नहीं जो पहले भी हुई है

लेकिन इलाके में जितने भी पढ़े लिखे बुजुर्ग हैं यह बात उन तक पहुंचने के बाद उन्होंने उससे पहले ऐसा ना कभी सुना था और ना देखा था फिलहाल यह पत्थर तहसील कार्यालय में रखा दिया गया है जिस किसान के खेत में यह करिश्माई पत्थर गिरा है उसका नाम निर्मित माली है दरअसल उस्मानाबाद जिले में तूफानी बारिश हुई थी इसलिए अपने खेतों का जायजा लेने किसान निर्मित माली वहां हुआ था तभी यह घटना घटित हुई इस घटना से माली बहुत घबरा गए लेकिन तुरंत इस बात की जानकारी उन्होंने तहसील कार्यालय को दें।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button