FEATUREDमध्यप्रदेश

आज नहीं खुलेंगी शराब की दुकान, ठेकेदारों ने नहीं माना शिवराज सरकार का आदेश

BHOPAL : प्रदेश में आज से शराब की दुकानें नहीं खुलेगी। शराब ठेकेदारों ने सरकार का आदेश मानने से इंकार कर दिया है। सोमवार को आबकारी विभाग और प्रमुख सचिव से बातचीत हुई थी, लंबी चली चर्चा में सहमति नहीं बन पाई है। बातचीत में आबकारी ठेकेदारों ने एक्साइज ड्यूटी में छूट की मांग की थी, पर इस विषय पर सहमति नहीं बन पाई है। लेकिन विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि सरकार बदलने के बाद बड़े बड़े जिले के सराब ठेके लेने वाले ठेकेदार बैकफ़ुट में है उनका मानना है कि वर्तमान सरकार एल्कोहल फ्रेंडली नही है जिससे उनको शराब ठेकों में बड़ा घाटा होगा।
ठेकेदारों की तीन महत्वपूर्ण मांग
1.लाइसेंस की शर्तों को शिथिल किया जाए, क्योंकि चालू वर्ष में 2019-20 की तुलना में 25 फीसदी राशि बढ़ाई गई है।
2. डिपो से जितनी सप्लाई हो, दुकानों में जितनी खपत हो, उसी के हिसाब से ड्यूटी तय की जाए।
3. यदि फिर भी जरूरी हो तो सरकार दुकानों को अपने पजेशन में लेकर चलाए।
मीटिंग में उठे मुद्दे
ठेकेदार एसोसिएशन  ने कहा कि इस समय प्रशासनिक अमला, राजस्व के लोग व पुलिस कोरोना वायरस से संघर्ष में लगी है। ऐसे में शराब की दुकानें खुलती है तो कानून व्यवस्था का जिम्मा कौन संभालेगा। वैसे भी नीलामी के समय जो लाइसेंस की शर्तें थी वह दूषित हो चुकी हैं। इसे सरकार द्वारा शिथिल किया जाना चाहिए। इसका प्रजेंटेशन सरकार को दिया है। ठेकेदारों ने यह भी कहा कि दुकानों पर लंबी लाइन लगी और व्यवस्थाएं बिगड़ी तो जिम्मेदारी किसकी होगी। शराब एक जिले से दूसरे जिले में जाएगी, ऐसे में कोरोना फैलने का डर है। 25-50 लोग एक साथ दुकानों पर आ गए तो मुश्किल होगी। अधिकारियों ने कहा कि इस व्यवस्था का ध्यान रखा जाएगा। मांगों का जहां तक सवाल है तो इस पर निर्णय बाद में लेंगे।
फीस का पेंच
वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 10,650 करोड़ रु. रेवेन्यू के साथ शराब दुकानें आवंटित हुई हैं। यह एक्साइज ड्यूटी एक अप्रैल से प्रभावी है, अभी दुकानें बंद हैं, इससे सरकार को 1000 करोड़ का नुकसान हुआ है। ठेकेदार नई शर्ताें के साथ ड्यूटी नहीं देना चाहते।
ये भी पढ़ें-

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

सतना में लॉक डाउन की पहली और अनोखी शादी

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here