सतना

सतना में लॉक डाउन की पहली और अनोखी शादी

सतना : कोरोना महामारी ने लोगों को घरों में ना सिर्फ बंद कर दिया है, बल्कि लोगों की लाइफ स्टाइल उनके कामकाज एवं खुशियां मनाने का तरीका सब बदल गया, पहले शादियां बैंड बाजा बारात के साथ नाचते गाते दुल्हन के दरवाजे पहुंचती थी, लेकिन बिना इन सबके भी सतना में लॉक डाउन के दौरान एक ऐसी शादी हुई है, जिसमें वर वधु के माता पिता और उनके भाई बहन की मौजूदगी में शादी समारोह संपन्न हुआ इस शादी में बैंड बाजा तो था लेकिन बारात नहीं थी वर वधु को आशीर्वाद उनके परिवार के लोगों ने फोन पर दिए और रिश्तेदारों एवं मित्रों ने शादी को ऑनलाइन देखकर भरपूर आनंद लिया।

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

सतना के मुख्तियारगंज में रहने वाले सुरेश चंद्र मंगल ने अपने बेटे सुभाष का विवाह राम कुमार मंगल की बेटी सोनम से कराया इस शादी समारोह की खास बात यह रही कि विवाह पूरे धूमधाम से बैंड बाजा के साथ संपन्न कराया गया लेकिन इस शादी में बाराती नहीं थे और ना ही जय माल के वक्त वर-वधू को आशीर्वाद देने वाले बुजुर्ग और रिश्तेदार दरअसल लॉक डाउन के दौरान सतना में यह पहली शादी है जिसे सोशल डिस्टेंसिंग के साथ संपन्न कराया गया इस शादी में वर-वधू के माता-पिता और भाई बहन ने मिलकर संपन्न कराया बाकायदा वर वधू ने मास्क पहना और जयमाला कार्यक्रम हुआ एवं मंडप के नीचे शादी हुई इस दौरान परिवार ने अपने सभी रिश्तेदारों को दोस्तों को शादी की सारी रस्में ऑनलाइन दिखाई सभी रिश्तेदारों ने शादी को ऑनलाइन देख कर आनंद लिया एवं फोन पर ही वर वधु को आशीर्वाद दिया,, परिवार का कहना है कि कोरोना महामारी एवं लॉक डाउन के दौरान उनके लिए शादी का करना भी बाकी चीजों की तरह जरूरी था पहले की तरह बैंड बाजा बारात के साथ शादी नहीं की जा सकती लेकिन बिना उसके भी शादी ना हो ऐसा नहीं है इसलिए परिवार ने निर्णय लिया कि वे वर वधु का विवाह करेंगे और इस शादी को अपने दूर रह रहे रिश्तेदारों एवं मित्रों को ऑनलाइन दिखाएंगे, और खुशी-खुशी दुल्हन दूल्हे के घर विदा भी हो गई

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here