सतना

धू धू कर जली फसल, बिलखते रहे किसान

सतना जिले के नागौद कस्बे में आज बिजली के सार्ट सर्किट की वजह से लगी आग की वजह से खलिहान में रखी करीब 70 क्विंटल गेहूं की फसल देखते ही देखते जलकर खाक हो गईं, हद तो तब हो गई जब कई बार सूचना देने के बाद भी दमकल मौके पर नहीं पहुंचा किसान अपनी फसल को जलता देखते रहे, रोने और बिलखने के अलावा कुछ कर नहीं सके

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

धू धू कर जली फसल, बिलखते रहे किसान

मध्यप्रदेश के सतना जिले के नागौद के सिंहपुर डढ़िया ग्राम के बुली आदिवासी नाम की महिला ने करीब 12 एकड़ में खेती कर रखा था, जिसकी फसल कटाई के बाद उसे खलिहान में रखा गया था, आज अचानक खलिहान में रखी करीब 70 क्विंटल फसल जलकर खाक हो गई, बताया जा रहा है कि यह आग तेज धूप और बिजली की शार्ट सर्किट की वजह से लगी है, दोपहर में आग लगने से आग ने भयावह रूप ले लिया, जब तक गांव वालों ने महिला को सूचना दी तब तक बहुत देर हो चुकी थी आनन-फानन में लोग खुद आग बुझाने में जुट गए, आग इतनी तेज थी कि उसे काबू कर पाना किसी के बस में नहीं था, बेकाबू आग ने पल भर में खलिहान में रखी करीब 7 से 8 लाख कीमत की फसल को अपनी चपेट में ले लिया, दरअसल खेती करने वाली महिला बुली आदिवासी का पति सिंहपुर में ही प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ था, लेकिन पति की मौत हो जाने के बाद पत्नी ने खेती का पूरा काम खुद संभाला, आज लॉक डाउन के चलते खलिहान में रखी फसल जलकर खाक हो गई, इसमें सबसे बड़ी बात तो यह है कि गांव के बात ना हुई लोगों ने दमकल को सूचना दी लेकिन मौके पर ना तो दमकल पहुंची ना ही जिला प्रशासन का कोई भी अधिकारी, बताया गया कि गांव के सरपंच द्वारा तहसीलदार को इस बारे में सूचना दी गई तहसीलदार ने सर्वे कराकर मदद करने की बात कही है, दमकल और जिला प्रशासन की साफ तौर पर लापरवाही नजर आ रही है, धरती पुत्र अन्नदाता के ऊपर इस प्रकार से संकट आ जाना और किसी भी अधिकारी या दमकल का मौके पर ना पहुंचना यह तो समझ से परे है ।

ये भी पढ़े : यूरोप में लॉक डाउन तोड़ने पर कितना है जुर्माना http://satnanews.net/2020/04/13/4229/

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here