मध्यप्रदेश

प्रदेश में मंत्रिमंडल गठन करने की सुगबुगाहट तेज

प्रदेश के सियासी गलियारों में एक बार फिर मंत्रिमंडल गठन करने की सुगबुगाहट तेज हो गई है और इस बात की चर्चा है जिस शिवराज सिंह चौहान अपना मंत्रिमंडल गठित करने वाले हैं हालांकि सरकार की पहली प्राथमिकता कोरोना से निपटना है यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

लॉक डाउन का 21 दिन वाला प्रथम चरण पूरा होने वाला है द्वितीय चरण के लॉक डाउन पर भी सहमति लगभग बन गई है ऐसे में अब समझा जा रहा है कि 15 अप्रैल से जिस तरह से प्रदेश भर में गेहूं खरीदी शुरू होने वाली है ऐसे में यह बहुत महत्वपूर्ण है कि जनप्रतिनिधि अपने अपने इलाकों में पूरी तरह से सक्रियहो जाए कांग्रेसी भी इस बात के लगातार से आरोप लगा रही है कि कोरोना जैसी महामारी के बीच प्रवेश में ना स्वास्थ्य मंत्री है ना गृह मंत्री और ना खाद्य मंत्री इसके चलते भी ऐसा माना जा रहा है कि 25 से 28 लोगों को शिवराज सिंह मंत्री बना सकते हैं साथ ही मंत्रियों को कोरोना संक्रमित जिले की जिम्मेवारी भी दी जा सकती

इन विधायकों को मिल सकती है मंत्रिमंडल में जगह

मंत्री बनने की लिस्ट में जिनका नाम सबसे ज्यादा सुरक्षित है उनमें नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह, गोपाल भार्गव, सीताशरण शर्मा, रामपाल सिंह, राजेंद्र शुक्ला, केदारनाथ शुक्ला, कुंवर विजय शाह, जगदीश देवड़ा, यशपाल सिंह, ओमप्रकाश सकलेचा, रमेश मेंदोला, मालिनी सिंह, महेंद्र हंडिया, नीना वर्मा, संजय पाठक, मीना सिंह, नारायण त्रिपाठी, अजय विश्नोई, हरिशंकर खटीक, गौरी शंकर विसेन, नागेंद्र सिंह, विजय प्रताप सिंह जैसे भाजपा के कद्दावर नेता शामिल हैं

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here