सतना

कोरोना से भागा पर मौत ने नहीं छोड़ा, बहन को देनी पड़ी मुखाग्नि

सतना : कोरोना महामारी को लेकर पूरे देश मे दहशत है जिन शहरों में महामारी के मरीज मिल रहे वहां हाल और बेहाल है इंदौर शहर से कोरोना के दहशत से बाइक से रीवा घर वापस लौट रहा युबक महामारी की चपेट से तो बच गया मगर सड़क हादसे में अपनी जान गवा दी विदिशा के पास युवक को ट्रक ने कुचल दिया आज युवक का शव सतना लाया गया जहां बहन ने अपने छोटे भाई को नम आंखों से मुखाग्नि दी और अपना फर्ज निभाया

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

 

ये तस्वीर उस बहन की है जो अपने एकलौते भाई को मुखाग्नि दे रही, जिस हाथ से हर वर्ष भाई की कलाई में राखी बांधती थी और अपनी रक्षा का वचन मांगती थी आज वही हाथ भाई के चिता पर आग लगा रहा था दरअसल घटना बड़ी विभत्स है रीवा शहर के मूल निवासी पुष्पेंद्र उर्फ शिवम इंदौर में एमबीए की पढ़ाई कर रहा था इंदौर के विजयनगर इलाके में किराए के मकान में रहता था करोना बायरस की वजह पूरे देश मे लॉक डाउन हो गया ,इंदौर के हालात वेहद खराब हो गए ।पुष्पेंद्र तक सरकारी मदद नही पहुच पा रही थी जमा पूंजी खत्म हो चुकी थी ऐसे में पुष्पेंद्र अपने एक साथी राहुल के साथ चार तारीख को बाइक से अपने गाँव निकल पड़ा

 

,विदिशा के पास बाइक खड़ी कर फ्रेस होने सड़क के किनारे खड़ा हुया तभी पीछे से ट्रक टक्कर मारते हुए निकल गया ।पुष्पेंद्र की घटना स्थल पर मौत हो गई पुष्पेंद्र के पिता सतीश वर्मा की मौत कई वर्ष पहले ही हो चुकी थी ऐसे में पुलिस ने शव बहन प्रियंका को सौंपा आज सतना के नारायण तालाब मुक्तिधान में बहन ने अपने इकलौते भाई का अंतिम संस्कार किया। दुःखद ये भी था कि माँ अपने इकलौते पुत्र के अंतिम दर्शन तक नही कर पाई। लॉक डाउन की बजह से कोई परिचित रीवा जा नही सका पूरा फर्ज बहन ने निभाया ।

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here