सतना

मुसीबत में ऐसे कोटेदार मारेंगे भूख़ से

सतना : सरकार और प्रशासन की सख्ती के बाद भी कई जिम्मेदार निजी स्वार्थ के चलते इस आफत की घडी में भी निःसहाय लोगो के हक़ में डाका मारने से बाज नहीं आ रहे वैश्विक महामारी के चलते जहाँ रोज कमाकर खाने वालों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है वहीं उन्हें मिलने वाला राशन भी कोटेदार की काली कमाई की भेंट चढ़ गया है।

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

इस संक्रमण काल के समय जबकि राज्य सरकारों ने भंडार खोल दिये है और जिला प्रशासन को सख्त निर्देश है कि राशन कार्ड धरियो को तीन माहीने का राशन दिया जाय और जरूरत मंद बिना कार्ड धारियों को भी जिला प्रशासन राशन बटवाये लेकिन सतना शहर की तस्वीर कुछ ऐसी नजर आ रही है जहाँ जरूरत मंदो को राशन नही मिल पा रहा है।उल्टा राशन की दुकान की लम्बी लाइन सोसल डिस्टेंससिंग की धज्जियां उड़ा रही है

सतना शहर के वार्ड 25 में स्थित सरकारी राशान लेने की लम्बी कतार लगी है।कतार में लगी महिला पुरूष में राशन लेने की होड़ मची है,,शोसल डिस्टनसिंग कही नजर नही आ रही है। राशन दुकान में वार्ड के प्रतिनिधि वार्ड पार्षद ने कब्ज़ा कर रखा है और अपने चहेतों को राशान देने में जुटे हैं।वो करोना जैसी महामारी में बरते जाने वाले एतिहात भी भूल गए लम्बी कतार में शोसल डिस्टेसिंग का जरा भी ख्याल नही किया गया।वही जब भीड़ बेकाबू हुई तो पार्षद मौके से दफा हो गए और कोटेदार भी दुकान में ताला जड़कर नो दो ग्यारह हो गए।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस बल पहुँच गया और सोशल डिस्टनसिंग बनाने पर जोर दिया।लेकिन तबतक कोटेदार भाग चुका था बाहर खड़ी सैकड़ो की संख्या में भीड़ एक बार फिर बिना राशान के लौट गई जिला प्रशासन की ऐसी व्यस्था को देखकर सहज ही अंजदाज लगया जा सकता है।संक्रमण के इस काल मे जिला प्रशासन की अनदेखी के चलते जरूरत मंद खासा परेशान है।और बिचोलिये मुनाफा खोरी में जुटे हैं।

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here