मध्यप्रदेश

16 मार्च को कमलनाथ सरकार की अग्निपरीक्षा

Floor Test in MP भोपाल | प्रदेश के राजनीतिक संकट के बीच तमाम तरह की अफवाहों और कयासों पर विराम लगाते हुए प्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने देर रात मुख्यमंत्री कमलनाथ को चिट्ठी लिख कर सरकार को बहुत साबित करने का निर्देश दिया है । अपनी चिट्ठी में मुख्यमंत्री कमलनाथ को लिखा है कि वह दिनांक 16 मार्च 2020 सोमवार को विधानसभा सदन में बहुमत साबित करें। मध्यप्रदेश विधानसभा में फ्लोर टेस्ट राज्यपाल के अभिभाषण के तत्काल बाद शुरू हो जाएगा। विश्वास मत पर वोटिंग हो सकती है।  राज्यपाल ने निर्देशित किया है कि विधानसभा में मत विभाजन बटन दबा कर हो। किसी भी स्थिति में विधानसभा सदन को स्थगित नहीं किया जाए एवं पूरी कार्रवाई की वीडियोग्राफी कराई जाए।

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

तो लागू नहीं होगा व्हिप

विधि विशेषषज्ञों के मुताबिक कानूनी प्रावधान न होने के चलते कांग्रेस और स्पीकर 16 बागी विधायकों को विधानसभा में पेश होने के लिए मजबूर नहीं कर सकते हैं। इससे पहले पिछले साल कर्नाटक में ऐसी स्थिति बनी थी तो सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया था कि इस्तीफा दिए जाने के सात दिन के भीतर स्पीकर उनकी वैधता की जांच करें। अगर वे सही हों तो मंजूर करें, नहीं तो खारिज कर सकते हैं। ऐसे हालात में बागी विधायकों पर व्हिप लागू नहीं हो सकता है।

बागियों के इस्तीफे मंजूर हुए तो अल्पमत में सरकार

जिन 16 विधायकों ने इस्तीफे दिए हैं उन पर स्पीकर को फैसला लेना बाकी है। अगर इस्तीफे स्वीकार हो जाते हैं तो 16 और विधायकों की सदस्यता चली जाएगी और कांग्रेस सरकार में शामिल सदस्यों की संख्या 121 से 99 हो जाएगी। इससे विधानसभा की संख्या 206 और बहुमत का आंकड़ा 104 पर आ जाएगा। छह इस्तीफे मंजूर होने के बाद अब उन्हें रिक्त घोषित करने की कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस विधायक जयपुर से भोपाल के लिए रवाना

सिंधिया की बगावत के बाद कांग्रेस विधायक दल में मची भगदड़ की स्थिति से बचने के लिए पार्टी ने सरकार का समर्थन कर रहे विधायकों को जयपुर में सुरक्षित स्थान पर भेज दिया था। तब से वे वहीं थे, लेकिन अब 16 मार्च से विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने जा रहा है तो उन्हें कार्यवाही में मौजूद रखने के लिए वापस बुलाया जा रहा है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के विधायक जो जयपुर के एक रिजॉर्ट में ठहरे थे, भोपाल एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए।

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here