FEATUREDमध्यप्रदेश

कमलनाथ सरकार के 20 मंत्रियो का इस्तीफा, श्रीमंत के मंत्री अभी भी गायब

मध्यप्रदेश की राजनीत में आज बड़ा दिन साबित हुआ कालनाथ सरकार के 20 मत्रियो ने आज शाम हुई बैठके के बाद स्तीफा सौप दिया बताया गया की मंगलवार को मंत्रिमंडल का फिर से गठन होगा , खबर ये भी है की ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के मंत्रियो ने स्तीफा नहीं दिया है , इसके बाद सियासी भूचाल चरम पर है देर शाम कालनाथ सरकार के मंत्री सज्जन सिंह मीडिया के सामने आये और उन्होंने कहा की सरकार को कोई खतरा नहीं है बल्कि सरकार और मजबूती के साथ खड़ी होगी

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

प्रदेश की सियासत में भूचाल की खबर है मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सोमवार को दिल्‍ली में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की  और शाम को राजधानी पहुंचे । खबर है कि  मुख्यमंत्री कमलनाथ को प्रदेश सरकार के सभी मंत्रियों ने अपने इस्तीफे  सौंप दिए हैं। ये सभी कमलनाथ समर्थक और अन्‍य मंत्री हैं जबकि सिंधिया समर्थक 8 मंत्री बैठक में मौजूद नहीं थे।

मंत्री सज्‍जन सिंह वर्मा की माने तो करीब 20 मंत्रियों ने अपने इस्‍तीफे सीएम को सौंपकर कर फि‍र से मंत्रिमंडल का गठन करने की राह आसान कर दी है ।  वर्मा ने कहा कि चार बार फ्लोर टेस्‍ट में भाजपा मुंह की खा चुकी है। उन्‍होंने कहा कि सिंधिया कहीं नहीं गए। यह सरकार पूरे पांच साल चलेगी। कल विधायक दल की बैठक बुलाई गई है।

सूत्रों के अनुसार एक जानकारी यह भी मिली है कि राजस्‍थान की तर्ज पर सिंधिया को उपमुख्‍यमंत्री बनाया जा सकता है । सीएम ने आपात बैठक के बाद देर रात कैबिनेट की बैठक भी ली। बताया जाता है कि इसमें तय किया गया है‍ कि दिल्‍ली से आलाकमान जो तय करेगा वह मान्‍य होगा। बैठक के बाद सीएम ने आरोप लगाया कि माफि‍या के सहयोग से सरकार को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि जनता की बनाई सरकार अस्थिर नहीं होगी।

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here