सतना

बच्चों के हाथों में आया झाड़ू ! क्या ऐसे पढ़ेगा सतना?

सतना – मध्य प्रदेश सरकार स्कूलों की शिक्षण व्यवस्था सुधारने के लिए नित नए प्रयोग कर रही है ,सरकार ने स्कूली छात्र छात्राओं से बाल श्रम न कराने के स्पस्ट निर्देश दे रखे है इसके बाबजूद आए दिन ऐसी तस्वीरे सामने आती रहती है , मासूमो के हाथों में कलम किताब की जगह झाड़ू पकड़ा दी जाती है । ऐसी फिर एक तस्वीर अमरपाटन जनपद के शासकीय प्राथमिक शाला मढ़ी की सामने आई है जहां नौनिहाल बच्चों के हाथों में झाड़ू पकड़ा दी गई हैं।

IMG-20210305-WA0003
20210615_185746_0000_640x360

कलम की जगह बच्चों के हाथों में आया झाड़ू

कोमल हाथों में झाड़ू लेकर बच्चे पढ़ाई की बजाय स्कूल परिषर की सफाई में व्यस्त है । जिन नौनिहालों के हाथ मे कलम दवात होनी चाहिए वो झाड़ू लेकर बाल श्रम कर रहे हैं , गुरूजी का आदेश का यहाँ पालन हो रहा है। दरअसल गुरूजी पठन पाठन न कराकर बच्चों को परिषर की सफाई का जिम्मा सौंपा है ।बच्चे जी जान लगाकर घासों से धूल निकाल रहे हैं । कुछ बच्चो को झाड़ू लगाने तथा कुछ को कचरा फेक ने में लगाया गया है । हालांकि स्कूलो की साफ सफाई के लिए शिक्षा विभाग अलग बजट देता है ।पंचायत भी स्कूल की साफ सफाई के लिए चपरासी की व्यवस्था कर सकती है इस सब के बाबजूद नौनिहालों से बाल श्रम कराया जा रहा ।इस मामले में जिला शिक्षाधिकारी की माने तो उन्होंने बच्चों से बाल श्रम करा ने गलत कहा है एवं मामले की जांच कराने की बात कही है ।

AAD

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here