मध्यप्रदेश

सीएम शिवराज ने पेश की मिसाल ससुर की मौत के बाद लिया यह निर्णय

भोपाल 19 नवम्बर । मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक ऐसी मिसाल पेश की है जो दूसरे नेताओं के लिए उदाहरण है मुख्यमंत्री के ससुर और उनकी पत्नी साधना सिंह के पिता का बुधवार को निधन हो गया था लेकिन उनके पार्थिव शरीर को निजी निवास ले जाने के लिए मुख्यमंत्री ने जो निर्णय लिया वह काबिले तारीफ है

सीएम शिवराज सिंह के ससुर लंबे समय से बीमार थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में भर्ती से अंतिम संस्कार के लिए उनका पार्थिव शरीर गोंदिया स्थित उनके निवास पर ले जाना था ऐसे में मुख्यमंत्री ने निर्णय लिया कि उनका पार्थिव शरीर बजाय किसी सरकारी हवाई साधन के निजी हवाई सेवा के माध्यम से ले जाया जाएगा और उसका खर्च निजी तौर पर वह बहन करेंगे इसके लिए एक निजी कंपनी से संपर्क किया गया और फिर उसी के माध्यम से गोंदिया ले जाया गया जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

MP पुलिस पर UP में हमला एक ASI और हेड कांस्टेबल घायल

वर्तमान समय में राजनेताओं द्वारा सरकारी संसाधनों के किये जा रहे दुरुपयोग की कई कहानियां सामने आती रहती हैं लेकिन ऐसे समय में मुख्यमंत्री ने यह उदाहरण प्रस्तुत करके ना सिर्फ एक मिसाल पेश की है बल्कि आम जनता को यह बताने की कोशिश की है कि आम जनता की गाढ़ी कमाई केवल और केवल जनता के लिए होती है और शिवराज उसी के लिए संकल्पित है

SATNA NEWS चाचा भतीजे पर चाकू से हमला, चाचा की मौके पर मौत

बताते चलें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ससुर घनश्याम दास का बुधवार को देर शाम भोपाल के निजी अस्पताल में निधन हो गया वह 88 साल के थे कुछ और कुछ दिनों से वह बीमार चल रहे थे उनके परिवार में उनकी पत्नी सुशीला देवी तीन बेटियां रेखा कल्पना और साधना दो बेटे अरुण और संजय हैं

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here