सतना

SATNA रामपुर BMO को टीम से हटाने की मांग

सतना 14 नवम्बर। भारतीय शक्ति चेतना पार्टी ब्लॉक रामपुरबाघेलान के नेतृत्व में अनुविभागीय अधिकारी को सुपुर्द किया गया ज्ञापन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुरबाघेलान में पिछले दिनों सर्जन की लापरवाही मैं जांच टीम से डॉ राघवेंद्र गुर्जर को हटाए जाने की मांग को लेकर और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुरबाघेलान में महिला डॉक्टर शीघ्र नियुक्त करने को लेकर सुपुर्द किया गया ज्ञापन और लापरवाह है डॉक्टरों के ऊपर सख्त कार्रवाई की की गई मांग कार्यवाही ना होने की स्थिति पर भारतीय शक्ति चेतना पार्टी के ब्लॉक अध्यक्ष विनय शंकर त्रिपाठी के द्वारा कहा गया कि आगे होने वाली घटनाओं का जिम्मेवार होगा प्रशासन और डॉक्टर राघवेन्द्र गुर्जर को जांच टीम से से अलग करने की की गई मांग

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

रामपुर बघेलान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लापरवाहीयों के चलते रामपुर क्षेत्र की जनता स्वास्थ्य सुविधाएं ना मिल पाने के कारण असमय ही काल के गाल में समारही है, चाहे वह प्रसूति महिलाएं हो या अन्य बीमारियों करण हो रामपुर बघेलान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रअपनी लापरवाही के कारण प्रसिद्ध हो चुका है। जिससे क्षेत्र की जनता का विश्वास नहीं रहता और वह झोलाछाप डॉक्टरों के चक्कर में पड़कर अपना समय और और पैसा दोनों बर्बाद करते हैं और अपनी जान गवाते हैं । अभी पिछले दिनों हे दवाओं को किस तरह से नाले में फेंका गया था और इन्हीं दबाव के अभाव में क्षेत्र की जनता अपनी जान गवा रही हैं हर बार जांच बैठाई जाती है लेकिन कोई सुधार या जिम्मेदार व्यक्ति पर कार्यवाही नहीं होती।पूर्व में हुई लापरवाही पर कोई ठोस कार्यवाही ना होने से दिनांक 11 नवंबर 2020 को रामपुर क्षेत्र की महिलाओं को नसबंदी के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा बुलाया गया था, जो अपने वाहन से रामपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची जहां पर 21 महिलाओं को बेहोशी की दवा दी गई और 10 महिलाओं का ऑपरेशन किया गया जब 10 महिलाओं का ऑपरेशन करना था तो 21 महिलाओं को बेहोशी की दवा क्यों दी गई रामपुर बघेलान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीएमओ डॉ गुर्जर को यह नहीं पता था कि कोविड-19 में 10 महिलाओं का ही नसबंदी किया जा सकता है? क्योंकि बीएमओ के माध्यम से ही आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा नसबंदी की के लिए महिलाएं लागी गई थी। अगर आशा कार्यकर्ताओं को निर्देशन ना दिया जाता तो वह 10 से अधिक महिलाएं ना लाती , या जिन जिन आशा कार्यकर्ताओं को महिलाओं को लाने के लिए कहा जाता वहीं आशा कार्यकर्ता महिलाओं को लेकर आती। तय संख्या से अधिक महिलाएं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचना भी एक बड़ी लापरवाही है।

अतः आपसे अनुरोध है कि महिलाओं की नसबंदी में हुई लापरवाही में अति शीघ्र जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। सबसे बड़ी बात यह सामने आ रही है कि इसमें बीएमओ डॉक्टर राघवेंद्र सिंह गुर्जर भी दोषी हैं लेकिन उन्हें ही जांच टीम में रखा गया है। फिर कैसे न्यायसंगत जांच हो सकती है। रामपुर बघेलान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ डॉ राघवेंद्र सिंह गुर्जर को जांच टीम से हटाया जाए और उन्हें भी जांच के दायरे में लिया जाए।अति शीघ्र सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में महिला डॉक्टर नियुक्त की जाएं।

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here