सीधी-सिंगरौली

कांग्रेसी नेता को SDM साहब ने सुनाई खरीखोटी

सीधी 29 अक्टूबर । सीधी में कंग्रेश नेता को धरना प्रदर्शन की अनुमति लेना जाना पड़ गया मंहगा-SDM ने कंग्रेश नेता से अभद्रता कर पुलिस से पकडबाने की धमकी देकर दफ्तर से खदेड़ा

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

सीधी जिले में सरकारी अफसरों की अफसरशाही किस कदर हावी है जिसकी वानगी उस बक्त सामने आई जब ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री एसडीएम कार्यालय धरना प्रदर्शन करने की अनुमति लेने पहुंचे तो मझौली SDM ने कंग्रेश नेता से अभद्रता कर गाली गलौज करते हुए पुलिस से पकडबाने की धमकी देकर दफ्तर से बाहर जाने का रास्ता दिखा दिया

इतना ही नही SDM ने कंग्रेश नेता को एक पत्र जारी कर पुलिस बल कम होने पर धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं देने का हबला देकर पल्ला झाड़ लिया,वही कंग्रेश नेता के साथ हुई बर्बरता को लेकर कांग्रेश नेताओं ने भाजपा सरकार में अफसरशाही हावी होने का आरोप लगाते हुए एसडीएम पर कार्यवाही की माँग की तो अपर कलेक्टर ने पूरे मामले में जाँच का फरमान जारी कर दिया

सीधी के ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री आनंद सिंह है जो मझौली एसडीएम आनंद सिंह राजावत पर अभद्रता करने का आरोप लगा रहे है,इनकी माने तो  23 अक्टूबर को धरना प्रदर्शन के अनुमति लेने SDM कार्यलय मझौली पहुँचे जहां एसडीएम आनंद सिंह राजावत ने अफसरशाही दिखाते हुए कांग्रेश नेता से अभद्रता कर गाली गलौज की और पुलिस से पकडबाने की धमकी देते हुए कांग्रेश नेता को धरना प्रदर्शन की बगैर परमिशन दिए ही बाहर का रास्ता दिखा दिया

वही एसडीएम ने 24 अक्टूबर को कांग्रेश नेता को एक पत्र लिख पुलिस बल ना होने का हवाला देते हुए धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं देने का हबाला देते हुये पल्ला झाड़ लिया, कांग्रेश नेता का आरोप है कि बीजेपी सरकार में अफसरशाही हावी हो चुकी है धरना प्रदर्शन करना हमारा मौलिक अधिकार है जिसे यहां बैठे अधिकारी छीन रहे हैं जिला प्रशासन से शिकायत कर माँग किया हूं कि पूरे मामले में निष्पक्ष जांच कर दोषी एसडीएम के खिलाफ कार्यवाही की जाय

वही अपर कलेक्टर हर्षल पंचोली का कहना है कि कांग्रेश नेता द्वारा धरना प्रदर्शन को लेकर एक आवेदन एसडीएम कार्यालय में दिया गया था जिसको मझौली एसडीएम ने खारिज कर दिया था,पूरा मामला इसी से जुड़ा हुआ है,कंग्रेश नेता अभद्रता करने का SDM पर आरोप लगा रहे हैं, जिसकी जांच कर आगामी कार्यवाही की जाएगी।

बहरहाल कांग्रेसी नेता जिले की नदियों से हो रहे मशीनों से रेत उत्खनन को लेकर रेत खदान में धरना प्रदर्शन करने की अनुमति लेने कार्यालय पहुंचे थे जहां धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं मिली लेकिन एसडीएम पर अभद्रता करने का आरोप लग रहा है,अब देखना यह होगा कि आला अफसर कब तक पूरे मामले की जांच कर क्या कुछ कार्यवाही कर हो सकेंगी यह देखने बाली बात होगी।

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here