FEATUREDदेश

भारत में कोविड-19 के 54,044 नये मामले आए; लगातार तीसरे दिन नये मामले 60,000 से कम

नयी दिल्ली, 22 अक्टूबर (भाषा) भारत में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के दैनिक नये मामलों की संख्या 60,000 से नीचे रही। कोरोना वायरस संक्रमण के 54,044 नये मामले सामने आने से देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 76,51,107 तक पहुंच गए।

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार, एक दिन में संक्रमण के कुल 54,044 मामले सामने आए, जबकि पिछले 24 घंटे में 717 और मौतें होने से मृतकों की संख्या 1,15,914 हो गई।

अब तक कुल 67,95,103 लोगों ने इस बीमारी से निजात पाई है। राष्ट्रीय स्तर पर मरीजों के ठीक होने की दर अब 88.81 प्रतिशत हो गई है, जबकि मृत्यु दर 1.51 प्रतिशत है।

कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगातार पांचवें दिन आठ लाख से नीचे रही।

आँकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 7,40,090 है, जो कुल मामलों का 9.67 प्रतिशत है।

भारत में कोविड-19 के मामले 7 अगस्त को 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख, 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख और 11 अक्टूबर को 70 लाख के पार चले गए थे।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, मंगलवार को 10,83,608 नमूनों की जांच के साथ ही देश में 20 अक्टूबर तक कुल 9,72,00,379 नमूनों की जांच हो चुकी है।

देश में हुई 717 नई मौतों में से 213 महाराष्ट्र में हुई हैं, जबकि कर्नाटक में 66, पश्चिम बंगाल में 61, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु में 50-50 और दिल्ली में 41 मौतें हुई हैं।

देश में इस महामारी में अब तक कुल 1,15,914 लोगों की मौत हुई है, जिनमें 42,453 मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं, जबकि तमिलनाडु में 10,741, कर्नाटक में 10,608, उत्तर प्रदेश में 6,714, आंध्र प्रदेश में 6,481, पश्चिम बंगाल में 6,180, दिल्ली में 6,081, पंजाब में 4,037 और गुजरात में 3,651 मौतें हुई हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 70 प्रतिशत से अधिक मौतें संक्रमित मरीजों में अन्य बीमारियां होने के कारण हुईं।

मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, “हमारे आंकड़ों का आईसीएमआर के आँकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है।

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here