सीधी-सिंगरौली

खदान में मिले सोने के बिस्किट ! बेचने वालो को पुलिश ने पकड़ा तो खुल गया राज

सिंगरौली 21 अक्टूबर । नकली सोने के बिस्किट को असली बता कर ठगी करने वाले 5 सदस्यीय ठग गिरोह का पर्दाफास करने में सफलता मिली है। पुलिस ने गिरोह को बरगवां से दबोचा है। जिनके पास से 30 हजार नकदी सहित ,नकली व असली सोना के साथ मोटरसाइकिल , मोबाइल व चाकू को जप्त किया है।

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

उक्ताशय की जानकारी में मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी ने बताया कि घटना दिनांक 20 octuber को फरियादी इंद्रजीत सिंह तोरमा निवासी चंदौली हाल पता साही ठेकेदार के पास ने रिपोर्ट दर्ज करा कर बताया कि मुख्य आरोपी रामदास साहू उसके पास दुधमनिया सड़क निर्माण कार्य स्थल पर आया और लालच दिया कि उसके संपर्क में कुछ लेबर है जिन्हें गोरबी खदान से सोने के 12 नग बिस्किट मिले हैं जिनमे से एक लेबर को बतौर हिस्सा 4 बिस्किट मिला है जो पर बिस्किट डेढ़ लाख के हिसाब से बिक्री करना चाहता है।

टी आई श्री त्रिपाठी ने आगे बताया कि आरोपी के बहकावे व लालच मे फंसकर फरियादी 10 हजार रुपये लेकर उनके साथ गोरबी के जंगल चला गया जहाँ ठगी के बाकी सदस्यों से मिला और फरियादी को नकली सोने का बिस्किट दिखा कर अपने जाल में फंसा लिया। ठगी से अंजान फरियादी उक्त ठगों को फरियादी 10 हजार रुपये बतौर एडवांस दे दिया और बाकी 1 लाख 30 हजार रुपये लेकर दूसरे दिन रेलवे स्टेशन सिंगरौली के पास बुलाया। जहाँ दूसरे दिन फरियादी निर्धारित तिथि व समय पर पहुंच गया जिसे लेकर पुनः आरोपीगण गोरबी के जंगल मे गए और पैसा बिना सोने का बिस्किट दिए बगैर पैसा मांगने लगे जिसे देने से मना करने पर फरियादी कुछ समझ पाता इससे पहले उसके पास रखे 20 हजार रुपये को सभी मिलकर छीन लिए और चूना लगा कर फरार हो गए थे।

बरगवां में दबोचे गए नकली स्वर्ण ठग गिरोह

टी आई श्री त्रिपाठी ने बताया कि नकली सोने के बिस्किट को असली बता कर ठगी करने का मामला गंभीर था सो त्वरित एक टीम गठित कर गिरोह के पतासाजी में लगा दिया। नतीजन बहुत जल्द टीम को सफलता मिली और मुख्य आरोपी रामदास साहू निवासी पतेरी सहित साथ जमुना साहू निवासी पतेरी , नियामी गोंड निवासी डगा ,जमालुद्दीन निवासी कसर को बरगवां से गिरफ्तार किया गया। आरोपियों के पास से ठगी का 30 हजार नगद, नकली सोने का बिस्किट, कुछ असली सोना, एक नग मोटरसाइकिल ,मोबाइल व एक चाकू को जप्त किया गया।

विन्ध्यनगर में एक शिक्षक को ठगना किया स्वीकार

गिरफ्तार नकली स्वर्ण ठग गिरोह ने पूछताछ में विन्ध्यनगर थाना क्षेत्र में घटना दिनांक 8 octuber को एक शिक्षक को नकली सोने को असली बता कर ठगने का अपराध स्वीकार किया। इसके अलावा जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक ठगी को बोलते तोते के तरह स्वीकार किया।

नकली सोने का बिस्किट देने वाला सोनार भी धराया

टी आई श्री त्रिपाठी के अनुसार गिरफ्तार ठग गिरोह ने पूछताछ में वैढन कटरा से एक सोनारसे नकली बिस्किट लेना स्वीकार किया जिसके बाद नकली सोने का बिस्किट बिक्री करने वाले एक सोनार को भी गिरफ्तार कर न्यायालय भेज दिया गया है।

इनकी रही भूमिका

मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी के नेतृत्व में ठग गिरोह का पर्दाफास करने में उप निरीक्षक सरनाम सिंह, साहबलाल सिंह,संतोष सिंह, अरविंद चौबे, डी एन सिंह, संजय सिंह परिहार, राहुल चौहान,रविदत्त पांडेय,रामनरेश प्रजापति, विष्णु रावत,ज्योति पांडेय आदि की सराहनीय भूमिका रही है।

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here