FEATUREDमध्यप्रदेशसतना

सतना का लाल वतन पर कुर्बान

सतना 5 अक्टूबर 2020। विंध्य की माटी ने भारत माता के माथे पर एक बार फिर तिलक किया है। विंध्य के सतना जिले के एक जांबाज बेटे ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान देकर अपनी जन्मभूमि को गौरवांवित किया है। पुलवामा सेक्टर में आतंकियों से मुकाबला करते हुए सतना जिले के अमरपाटन क्षेत्र के पैपखरा पंचायत के ग्राम पड़िया के सपूत धीरेंद्र त्रिपाठी श्रीनगर में शहीद हो गए हैं। धीरेंद्र के साथ एक अन्य जवान शैलेन्द्र कुमार निवासी रायबरेली उत्तर प्रदेश ने भी राष्ट्र रक्षा में अपने प्राणों की आहुति दी है।

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

शहीद धीरेंद्र सीआरपीएफ के जवान थे 10 अक्टूबर 2010 को सीआरपीएफ में अपनी सेवा प्रारंभ की । कुछ ही दिन पहले वे छुट्टी पर अपने घर आए थे छुट्टी खत्म होने पर उन्होंने वापस 7 सितंबर 2020 को वापस जाकर पुलवामा पोस्टिंग में आमद दी थी। शहीद जवान के पिताजी रामकलेश त्रिपाठी भी सीआरपीएफ में सूबेदार उपनिरीक्षक के पद पर सेवा करते हुए वर्तमान में बालाघाट में पदस्थ हैं । शहीद धीरेंद्र की माँ श्रीमती उर्मिला त्रिपाठी गृहणी है , । शहीद धीरेन्द्र प्रारंभ से ही यूनिफॉर्म/बेल्ट की नौकरी करने का शौक रखते थे । उनकी हॉबी बुलेट चलाना, ड्राइविंग करना ,क्रिकेट खेलना तथा पर्यटन थी , धीरेंद्र व्यक्तिगत रूप से सौम्य शांत प्रवृत्ति एवं सहयोगी भाव रखने वाले तथा पूरे गांव और क्षेत्र के लोगों का चहेते थे । । ग्रामीणों की माने तो धीरेन्द के दिल मे देश सेवा का जज्बा था जब भी छुट्टियों में आते तो गाँव के युवाओं को देश सेवा के लिए प्रेरित करते थे ,उनका फिजिकल टेस्ट करते थे ।

शहीद जवान धीरेन्द्र अपने माता पिता की इकलौती संतान थे उन्होंने देश की सेवा में उधर अपने प्राण न्यौछावर कर दिए इधर उनकी पत्नी श्रीमती साधना और 3 वर्ष का पुत्र कान्हा उनके वापस छुट्टी में घर आने का इंतजार करते रह गए ।

शहीद अपने पैतृक गांव पड़िया में 20 फरवरी 1988 को पैदा हुए थे। प्राथमिक शिक्षा अनुराधा पब्लिक स्कूल झिन्ना बेला में प्राप्त करने पश्चात सीधी जिले के रामपुर नैकिन के चोरगढ़ी ग्राम के प्रज्ञा हायर सेकेंडरी प्राइवेट स्कूल से 12वीं की परीक्षा वर्ष 2006 _07 में उत्तीर्ण करने के पश्चात 10 अक्टूबर 2010 को सीआरपीएफ में चले गए ।

धीरेंद्र के शहादत की खबर मिलते ही गांव में मातम पसरा हुया है ।जिला प्रशासन की तरफ से एसडीएम तहसीलदार और थाना प्रभारी शहीद के परिजनों से मुलाकात की , और सांत्वना दी ।

No Slide Found In Slider.

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here