सीधी-सिंगरौली

singrauli नये उप पंजीयक आते ही अचानक बढ़ गया सेवा शुल्क

सिंगरौली 4 अक्टूबर। उप पंजीयक कार्यालय सिंगरौली हमेशा सुर्खियों में बना हुआ है। कौन आया कौन गया किसका कितना रेट है आते ही फिक्स कर दिया जाता है। शहरी क्षेत्र की रजिस्ट्री से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों की रजिस्ट्री में सेवा शुल्क का निर्धारण अब नये तरीके से नये उप पंजीयक ने कर दिये हैं।

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

गौरतलब हो कि उप पंजीयक कार्यालय में सेवा शुल्क के नाम पर जो लेन-देने का मामला चल रहा है अब सड़क पर आ गया है। कोई हो सब जानते हैं कि उप पंजीयक कार्यालय में सेवा शुल्क के नाम पर चढ़ोत्री फिक्स है। अभी तक जो साहबान उप पंजीयक कार्यालय की जिम्मेदारी संभाल रहे थे उनका रेट कुछ अलग था। लेकिन नये साहबान के आते ही रेट में बढ़ोत्तरी होने की बात कही जा रही है। सूत्रों की बात मानें तो नये उप पंजीयक पहले भी सिंगरौली में अपनी सेवा दे चुके हैं। उस समय सेवा शुल्क इनका कुछ और था, लेकिन अब इनका सेवा शुल्क का रेट बढ़ गया है।

नाम न छापने की शर्त पर सेवा प्रदाताओं ने खुलकर अपनी बात रखते हुए कहा कि अभी तक उप पंजीयक कार्यालय में इनके पहले जो उप पंजीयक अधिकारी थे उनका सेवा शुल्क कुछ कम था, लेकिन नये उप पंजीयक अधिकारी आते ही यह बात कहवा दी है कि जो सेवा शुल्क का रेट पहले था वह अब नहीं रहेगा, उसमें भी बढ़ोत्तरी होगी। अगर रजिस्ट्री कराना है तो जो नियम सेवा शुल्क का बना रहे हैं उस नियम के आधार पर रजिस्ट्री का कार्य किया जायेगा। सेवा प्रदाताओं ने यह भी बताया कि यह पहले भी सिंगरौली में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उस समय इनका रवैया कुछ अलग था। लेकिन इस बार कुछ अलग है।

ये भी पढ़े दो हजार रूपये लाओ टिपर भरकर रेता ले जाओ

सूत्रों की बातों पर गौर करें तो नये उप पंजीयक अधिकारी ने आते ही सेवा प्रदाताओं को यह संदेश भेजवा दिया है कि ग्रामीण अंचल की रजिस्ट्री में 3 हजार से लेकर 5 हजार और शहरी क्षेत्र का 5 हजार से लेकर 10 हजार का शुल्क लगेगा। उप पंजीयक अधिकारी का यह फरमान जारी होते ही सेवा प्रदाताओं ने मजबूरन सुविधा शुल्क सहित के्रता-विक्रेताओं से मांग रहे हैं। क्योंकि जब तक उप पंजीयक अधिकारी के पास यह शुल्क नहीं पहुंचेगा तब तक जमीन की रजिस्ट्री नहीं होगी। फिर एक बार उप पंजीयक कार्यालय सिंगरौली सुर्खियों में आ गया है।

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here