FEATUREDमध्यप्रदेश

अब सायरन सुनकर भाग जाएंगे हाथी नहीं होगा किसानों का नुकसान

भोपाल 22 सितंबर । अगर जंगली क्षेत्र में हाथियों का झुंड से परेशान है और आपको झुंड के घुसने की सूचना झुंड के घुसने के साथ ही मिल जाए तो आप खुश हो जायेगे, जंगली क्षेत्र में रहने वाले सभी लोग कम से कम अपना घर बार और जान तो बचा ही सकते हैं अगर आप ऐसा ही सोचते हैं तो अब यह संभव हो गया है असल में संजय टाइगर रिजर्व के एक जोन में एक ऐसा ही सायरन लगाया गया है जहां पर हाथियों के झुंड के इस रेंज के भीतर घुसने के साथ ही अलार्म बज जाएगा और इसकी सूचना स्थानीय रहवासियों को चल जाएगी

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

असल में संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के पूरी रेंज में प्रदेश का पहला त्वरित सूचना यंत्र यहां लगाया गया है यहां पर फिलहाल प्रायोगिक तरीके से चार सेंसर लगाए जा रहे हैं संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के पूरी रेंज असल मे छत्तीसगढ़ बॉर्डर लगता है और जहां पर छत्तीसगढ़ की तरफ से कई वर्षों से हाथियों का झुंड प्रवेश करता रहा है और यहां रहने वाले स्थानीय किसानों की फसलों को बर्बाद करता रहा है इसी के चलते यहां यह तकनीक अपनाई जा रही है पूरी रेंज के चार स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां से हाथियों के झुंड का आना-जाना बना रहता है इसमें खास तरह के सेंसर लगे होंगे जिनकी क्षमता 100 मीटर की है इसके बाद इसकी रेंज ढाई सौ मीटर मीटर बढ़ाने का भी प्रावधान है जैसे ही हाथियों का झुंड इस क्षेत्र से गुजरेगा इसमें लगाए गए सायरन की आवाज निकलने शुरू हो जाएगी और जैसे ही हाथियों का झुंड क्षेत्र से गुजर जाएगा तो हाथियों की सायरन की आवाज लगातार निकलती रहेगी इस सायरन की आवाज चिन्हित गांव तक सुनाई देगी इसके अलावा अधिकारियों की फोन की घंटियां बजने शुरू हो जाएगी

6 फीट की ऊंचाई पर लगाया जाएगा ताकि हाथियों की ऊंचाई भी इसे डिस्टर्व न कर सके मध्य प्रदेश में पहली बार इस तकनीक का प्रयोग हो रहा है अधिकारियों का कहना है कि निगरानी करने के लिए बंगाल तमिलनाडु केरल छत्तीसगढ़ में ऐसे सेंसर लगे हुए हैं इस मामले पर फाउंडेशन 7 लोगों को प्रशिक्षण देगा जो इस मामले की निगरानी करेंगे

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here