FEATUREDमध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश के अगले मुख्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियां हों सकते हैं….

राजनैतिक पंडितो की माने तो उपचुनावों मे यदि ग्वालियर संभाग की सभी 16 सीटों पर सिंधिया समर्थक उम्मीदवार चुनाव जीतने मे कामयाब हुये तो निकट भविष्य मे सिंधियां को मध्यप्रदेश की कमान सौंपी जा सकती है दर असल कुछ लोग पूरे यकीन के साथ इस बात का दावा कर रहे है कि देर सबेर सबेर सिंधिया को मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है पार्टी के लोग भी उपचुनावो के नतीजे आनें के बाद मध्यप्रदेश की राजनीति मे एक बड़े बदलाव की बात स्वीकार करते है

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

कहा जाता है कि शिवराज को केंद्र मे मंत्री बनाया जा सकता है जबकि साफ सुथरी छवि वाले सिंधिया को मध्यप्रदेश मे मुख्यमंत्री बनाकर उन्हे एक बड़ी जिम्मेदारी दी जायेगी पार्टी के एक बड़े रणनीतिकार ने साफ तौर पर कहा कि ग्वालियर से दो लोगों को केन्द्र मे मंत्री बनाया जाना संभव नही है अभी ग्वालियर से नरेंद्र सिंह तोमर केंद्र मे मंत्री है लिहाजा सिंधिया को प्रदेश मे ही कोई बड़ी जिम्मेदारी दिया जाना लगभग तय है

सूत्र बतलाते है कि खुद सिंधिया ने भी प्रदेश की राजनीति मे ही बने रहने की इच्छा जाहिर की है सिंधिया के एक करीबी ने कहा कि मध्यप्रदेश की राजनीति मे एक बड़ा मुकाम हासिल करने की इच्छा माधव राव सिंधिया जी की भी थी लेकिन कमलनाथ और दिग्गविजय सिंह की कूटनीतिक चालों की वजह से माधवराव सिंधिया मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नही बन पाये थे

उल्लेखनीय है कि 2018 के विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद ज्योतिरा सिंधिया को ही सी एम पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा था लेकिन एक बार पुनः दिग्गविजय और कमलनाथ की जोडी सिंधिया राज घराने को सी एम पद की दौड़ से बाहर करने मे सफल रही लेकिन इस बार सिंधिया राज परिवार ने गांधी परिवार के आगे घुटने टेकने की जगह उनके खिलाफ बगावत का विगुल बजा दिया और वर्षो पुरानी सी एम बनने की लालसा को पूरा करने के लिये एक मजबूत कदम बढा दिया है
आगे देखना यह है कि सिंधियां के धुर विरोधी बीजेपी के प्रभात झा और जयभान सिंह पवैया ज्योतिरा दित्य को मुख्यमंत्री बनने से कैसे रोक पाते है..

No Slide Found In Slider.

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here