FEATUREDमध्यप्रदेश

भ्रष्टाचार मे देश मे दूसरे पायदान पर मध्यप्रदेश …

विल्डर्स फेथ ग्रुप आफ कंपनीज के ठिकानो पर पड़े आयकर के छापो से यह बात तो साफ हो गई है कि कंपनी के कारोबार मे कुछ बड़े अधिकारियों का भी पैसा लगा है हालांकि अभी इस बारे मे बहुत स्पष्ट जानकारी निकलकर बाहर नही आई है लेकिन शुरूआती जांच मे आई ए एस व आई पी एस रैंक के अधिकारियों की काली कमाई के निवेश की बात जरूर सामने आ गई है

यद्यपि आर्थिक अपराध से जुड़ा यह कोई इकलौता नया मामला नही है इससे पहले जैट्रोफा की खरीदी से जुड़ा मामला हो या फिर सिंहस्थ जैसे धार्मिक आयोजनो के लिये सामान खरीदी मे हुई आर्थिक गड़बडिय़ों की बात रही हों कहीं ना कहीं इस तरह के मामलो मे आई ए एस अधिकारियों की भूमिका को लेकर सवाल उठते रहें है टीनू जोशी मोहंती सुखबीर सिंह व विवेक पोरवाल जैसे कुछ आई ए एस अधिकारी तो जांच की गिरफ्त मे भी रहें है अब यह दीगर बात है कि टीनू जोशी को छोड़कर बाकि के लोग जैसे तैसे अब बचे हुये है और नौकरी भी करते रहे हैं
अब सवाल यह उठता है कि इस तरह के अफसरों को बचा कौन रहा था ?

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

हालांकि मुझे अब ठीक ठीक याद तो नही है लेकिन कभी किसी आर टी आई एक्टिविस्ट को दी ग ई जानकारी मे इस बात का खुलासा हुआ था कि अनुपात हीन संपत्ति वा कदाचरण से जुड़े कोई चार सौ से ज्यादा मामलों मे राज्य सरकार अभियोजन की अनुमति नही दे रही थी अब मौजूदा समय मे इस तरह के मामलो की क्या स्थिति है यह जानना बेहद जरूरी है किंतु भ्रष्टाचार की गंगोत्री मे नहाये हुये लोगो से यह उम्मीद करना कि वे खुद जिस कारोबार का हिस्सा है उसके खिलाफ वे लोग कोई कदम उठायेंगें

बहरहाल मुठ्ठी भर लोगों के खिलाफ चल रही कार्यवाही से नेता और अधिकारियों के नापाक गठजोड़ का खुलासा तो हो ही गया है आगे मध्यप्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज जी यदि चाह लें तो सूबे मे जितने भी काले धन के कुबेर हैं उनको बेनकाब कर सकते है लेकिन क्या वे ऐसा करेंगें?

सबसे ज्यादा लंबित मामले ….

मप्र केवल भ्रष्ट्राचार में ही नहीं बल्कि ऐसे मामलों के निपटारे में भी पीछे है।
यहां अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्यवाही होने में सालों का समय लग जाता है। कई बार तो लंबा समय गुजरने के कारण लोग अपनी शिकायतें ही वापिस ले लेते हैं। प्रदेश में ऐसे लंबित मामलों की संख्या 320 है। वहीं भ्रष्टाचार के मामलों में पिछले साल किसी भी आरोपी के खिलाफ मामले की पूरी जांच हो गई हो, ऐसा एक भी मामला सामने नहीं आया

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here