सतना

SATNA : कौशल विकाश केंद्र में बड़ा घोटाला !

सतना के स्व सहायता समूह की 22 महिलाओं के साथ कौशल विकास केंद्र के माध्यम से 2करोड़ 20लाख के फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। जिसकी शिकायत आज सतना एसपी ऑफिस में दर्ज कराई गई है, 5 साल पहले सभी महिलाओं ने कौशल विकास केंद्र में प्रशिक्षण लिया जिनकी आज तक ना तो डिग्री मिली और ना ही रोजगार यही नहीं सभी के डाक्यूमेंट्स लेकर जनधन खाता खोल दिया गया उन्हीं खातों में तमाम सरकारी योजनाओं का पैसा तो आ रहा है लेकिन उन पैसों के गमन का आरोप दिल्ली गुड़गांव 2 कंपनीयों पर लग रहा, जिसकी जांच पुलिस में शुरू कर दी है।

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

कौशल विकाश केंद्र का झोल

वर्ष 2015 में स्व सहायता समूह की 22सौ महिलाओं ने केंद्र की महत्वाकांक्षी योजना कौशल विकास केंद्र के जरिए सिलाई बुनाई का प्रशिक्षण लेने हेतु दाखिला लिया था, प्रशिक्षण के दौरान सभी महिलाओं से आधार कार्ड समेत दस्तावेज जनधन खाता खोलने के लिए लिए गए, ताकि उनके खातों में प्रशिक्षण का सरकारी पैसा आ सके, 5 साल बीत गए लेकिन ना तो इन्हें कोई पैसा मिला और ना ही वादे के मुताबिक कोई रोजगार दिया गया,

निर्मला सिंह - पीड़िता
निर्मला सिंह – पीड़िता

ये भी पढ़े :

गाय ने कम दूध दिया तो शिकायत पहुची थाने

यही नहीं इन्हीं खातों में वृषभ राशि समेत शासन की तमाम योजनाओं का पैसा और मनरेगा की मजदूरी तक आ रही है। लेकिन यह पैसा गुड़गांव की कंपनी एजुकेसन फ़ॉर एम्प्लॉयमेंट फाउंडेशन सोसायटी वा काव्या सेलुशन कंपनी नई दिल्ली के द्वारा गमन किया जा रहा है। महिलाओं ने आरोप लगाया है कि सतना सांसद गणेश सिंह के पीए शैलेंद्र पांडे सभी दस्तावेज लेकर दिल्ली चले गए थे और वही इन सभी का खाता खोला गया, इस बात की पूरी जानकारी महिलाओं ने सतना सांसद को भी दी थी, कार्यवाही करने के बजाय सतना सांसद ने इनसे मुंह मोड़ लिया, अब सभी महिलाओं ने अपने साथ हुई इस धोखाधड़ी की शिकायत की है।

नीतू मिश्रा - सुपरवाइजर स्व सहायता समूह सतना
नीतू मिश्रा – सुपरवाइजर स्व सहायता समूह सतना

सतना कौशल विकास केंद्र में प्रशिक्षण लेने वाली 22सौ महिलाएं खुद को ठगा हुआ महसूस कर रही हैं, इन सभी की माली हालत ठीक नहीं और शासन द्वारा योजनाओं का पैसा भी इन तक नहीं पहुंच रहा ऐसा नहीं है कि महिलाओं ने इस बात की शिकायत शासन प्रशासन से नहीं की, 5 साल पूर्व भी इस मामले की शिकायत सतना के कोलगवां थाना में दर्ज कराई गई थी, लेकिन मामला सिफर ही रहा लिहाजा आज समूह की दर्जनों महिलाओं ने एकजुट होकर सतना एसपी ऑफिस में जाकर शिकायत दर्ज कराई है पुलिस अधिकारियों की माने तो मामले पर संज्ञान लेकर पूरी जांच कराई जा रही है

गौतम सोलंकी - अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सतना
गौतम सोलंकी – अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सतना

ये भी पढ़े :

बाजार बंद होने का समय बदलेगा, CM शिवराज के कड़े निर्देश जारी

केंद्र सरकार की कौशल विकास केंद्र में प्रशिक्षण की योजना अब सतना के इन स्व सहायता समूह की महिलाओं के लिए गले की फांस बन गई है। वजह यह कि प्रशिक्षण का पैसा और रोजगार तो इन्हें इस योजना के तहत नहीं मिला, बल्कि प्रसूता राशि समेत मनरेगा की मजदूरी तक इनसे अछूती है। ऐसी स्थिति में यह सभी महिलाएं आर्थिक संकट में आ गई हैं और दाने-दाने को मोहताज है।

ये भी पढ़े :

सतना में 24 घंटे में 10 लोग मिले कोरोना संक्रमित

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here