FEATUREDमध्यप्रदेशसीधी-सिंगरौली

एक मोटर पम्प का बिल 80 हजार अरब रुपया, कैसे बिल भरे किसान

सिंगरौली जिले के बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से एक उपभोक्ता को इतना बिजली का बिल भेज दिया है कि की उपभोक्ता बिजली बिल की राशि पढ़ भी नहीं पा रहा है लेकिन उपभोक्ता कि चिंता जरूर इस बिल ने बढ़ा दी है वहीं दूसरी तरफ MPEB के अधिकारी एक तरफ उपभोक्ता को धमका भी रहे हैं और दूसरी तरफ अपनी लापरवाही मानने को तैयार ही नहीं है

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

सिंगरौली जिले के डिघ्घी गाँव मे रहने वाले रिचकन राम तिवारी के 1 हॉर्स पावर मोटर पंप का बिजली बिल 80 हजार अरब रुपए से ज्यादा आया है आज जैसे ही तिवारी जी को बिजली बिल मिला उनके होश फाख्ता हो गए, पहली नजर में तो तिवारी जी अपने बिजली बिल का अमाउंट पढ़ ही नहीं पाए, हिसाब किताब लगाते लगाते कई घंटे बाद समझ आया कि बिजली बिल 80 हजार अरब रुपए से ज्यादा है तिवारी जी का दिमाग चकरा गया और परिवार सहित चिंतित होकर इस बिजली बिल के बारे में सोचने लगे इतने लंबे चौड़े और भारी-भरकम बिल को लेकर रचिकन तिवारी का पूरा परिवार परेशान है

चोरी और सीनाजोरी भी

सिंगरौली जिले के डिग्गी गांव के रहने वाले रचिकन तिवारी के बिल के बारे में एमपीईबी के अघिकारी एक तरफ कुछ भी मानने को तैयार नहीं है उनका कहना है यह बिजली बिल फर्जी है और गलत है अब जब एमपीवी के एसपी तिवारी अधीक्षण यंत्री बिजली बिल को ही फर्जी बता रहे हैं तो भला इनसे कार्यवाही की क्या उम्मीद की जाए वहीं दूसरी तरफ उपभोक्ता के मोबाइल फोन पर MPEB के कर्मचारी उन्हें धमकी भी दे रहे हैं कि मीडिया में यह खबर लाने की क्या जरूरत थी बाहरहाल भले ही यह लिपिकीय त्रुटि हो लेकिन इस लिपिकीय त्रुटि से अगर कोई अनहोनी हो जाती तो इसके लिए जिम्मेदार कौन होता यह सवाल अब भी बाकी है, और मामला ज्यादा गंभीर तक हो जाता है जब अधिकारी इसे लिपकीय त्रुटि भी ना माने

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here