मध्यप्रदेश

शराब दुकान नही खोली तो हो सकती है ठेकेदारों के खिलाफ कार्यवाही

BHOPAL : मध्य प्रदेश के ऑरेंज और ग्रीन जिलों में 5 मई से शराब दुकान खोलने की सरकार ने छूट दी थी लेकिन भारी भरकम ड्यूटी से बचने के लिए खुद शराब ठेकेदार अपनी दुकानें खोलने को तैयार नहीं हैं और ज्यादातर जिलों में सरकारी आदेश के बाद भी दुकानें बंद हैं इसके खिलाफ सरकार एक्शन ले सकती है
 लॉक डाउन के दौरान पूरे ग्रीन जोन और ऑरेंज जॉन के कुछ इलाकों में 5 मई से शराब दुकानें खोलने की सरकार ने छूट दी थी लेकिन इस फैसले पर अब सरकार और ठेकेदार आमने-सामने हैं राज्य सरकार ने सभी दुकानों को खोलने का सर्कुलर कलेक्टर को भेजा था लेकिन शराब ठेकेदार दुकान खोलने पर राजी नहीं हैं उनकी आपत्ति है कि सरकार मोटी ड्यूटी लेकर सोमवार सिर्फ दुकान खोलने के निर्देश दिए हैं लेकिन इतनी ज्यादा ड्यूटी के साथ शराब ठेकेदार दुकान नहीं खोलेंगे लेकिन ठेकेदारों की आपत्ति के बाद सरकार कार्यवाही की तैयारी कर रही है सबसे पहले नोटिस जारी होंगे और उनका जवाब अगर संतोषजनक नहीं हुआ तो कलेक्टर उस पर कार्रवाई करेंगे और उनकी जमा फीस राजसात कर लेंगे
सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक 5 मई से प्रदेश में शराब दुकान खोलने की छूट दी थी इनमें भोपाल, इंदौर, उज्जैन में शराब दुकानों को बंद रखने का फैसला किया गया था तीनों शहरों में कोरोना संक्रमण की वजह से रेड जोन जिले हैं और यहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले ज्यादा है इस वजह से यहां लोगों में शराब की बिक्री बंद रहेगी
IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here