देशमध्यप्रदेश

कमलनाथ का इस्तीफा, 15 महीने की सरकार गिरी

भोपाल – फ्लोर टेस्ट से पहले ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफा दे दिया ,इस्तीफे का ऐलान करते हुए कमलनाथ ने कहा की 15 महीनों में प्रदेश की जनता इसकी गवाह किया है कि मेरी सरकार ने जो किए गए काम बीजेपी को रास नहीं आए. हमने जिस दी से सरकार बनाई उस पहले ही दिन से भाजपा ने साजिश शुरू कर दी15 महीनों तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहने के बाद कमलनाथ ने आज अपने पद से इस्तीफे का ऐलान कर दिया और दोपहर एक बजे राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौप दिया, इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने दो दिनों तक चली सुनवाई के बाद कमलनाथ सरकार को आज शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट के आदेश दिए हैं. लेकिन कमलनाथ ने फ्लोर टेस्ट से पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया. कोर्ट ने गुरुवार को फैसला सुनाते हुए कहा था कि मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र फिर से बुलाया जाए और कमलनाथ सरकार शुक्रवार शाम 5 बजे बहुमत हासिल करे. हालांकि, रात एक बजे तक विधानसभा की कार्यसूची जारी नहीं हुई थी, नाटकीय घटनाक्रम में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव देर रात विधानसभा पहुंचे और अध्यक्ष की मेज पर अपनी चिठ्ठी और फैसले की प्रति रखकर आए.
आज प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा, जनता ने पांच साल का मौका दिया था ताकि प्रदेश को सही रास्ते पर लाया जा सके. इसकी नई पहचान बने. मध्य प्रदेश की तुलना बड़े राज्यों से हो. 15 साल बीजेपी को मिले और मुझे 15 महीने मिले. इन 15 महीनों में प्रदेश की जनता गवाह किया है कि मेरी सरकार ने जो किए गए काम बीजेपी को रास नहीं आए. आप जानते हैं कि जब सरकार बनी तो पहले ही दिन से साजिश शुरू कर दी.

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003
IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here