सीधी-सिंगरौली

माँ बहन की गालिया देता है ये अधिकारी !

अपनी धौस जमाने के लिए ये शिक्षा अधिकारी अपने अधीनस्त कर्मचारियों को माँ बहन की गालिया भी देता है सुनने या पढ़ने में आप को इस बात पर भले ही विश्वास ना हो पर शिक्षा के मंदिर को संचालित करने वाले ये धिकारी कुछ ऐसा ही कर रहे है सिंगरौली जिला शिक्षा अधिकारी भूले अपनी मर्यादा, देवसर बीआरसीसी के के दिवेदी को दी मां बहन की गंदी गालियां, मोबाइल फोन के माध्यम से दी गालियां, सिंगरौली जिले के ही स्कूल के मामले में पत्रकार के शिकायत के दौरान दे दी गाली, अब इसके बाद बीआरसीसी के के द्विवेदी का कहना है कि हम इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों से करेंगे। अब जिला शिक्षा अधिकारी अपने बजाव में सफाई पेश करने में पूरी ताकत झोंक रहे हैं लेकिन आडियो तो झूठा साबित नहीं है

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

ऐसा है मामला

शिकायती पत्र
शिकायती पत्र

डीईओ की गाली से क्षुब्ध फफक फफक कर रो पड़े बीआरसी मामला गरमाया, डीईओ को हटाने की मांग दूसरों को शिक्षा देने वाला शिक्षा विभाग इन दिनों अपनी ही मर्यादा तार-तार होने का तमाशा देख रहा है जी हां सिंगरौली जिला शिक्षा अधिकारी बृजेश मिश्रा इन दिनों शिक्षा विभाग की मर्यादा को शर्मसार करने में तुले हुए हैं जी हां हम बात कर रहे हैं सोशल मीडिया में चल रहे इन दिनों एक ऑडियो व वीडियो की ऑडियो की बात करें तो एक युवक से डीईओ की वार्तालाप हो रही है जिसमें डीईओ साहब इतने उत्तेजित होकर बीआरसी देवसर को अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर रहे हैं वही यह ऑडियो वायरल होने के बाद जब बीआरसी तक पहुंचा तब बीआरसी ने कैमरा के सामने आते ही

शिकायतकर्ता
शिकायतकर्ता

फफक फफक कर रोना शुरू कर दिया जी हां बीआरसी की स्थिति यही बता रही है कि उनकी जगह कोई भी होता तो आंसू ना संभाल पाता क्योंकि डीईओ ने रोने पर मजबूर कर दिया है फिर हाल बीआरसी को काफी नाराज एवं आक्रोशित देखा जा रहा है वही समुचित शिक्षा विभाग सिंगरौली के महकमों में भी स्पष्ट रूप से नाराजगी एवं आक्रोश झलक रहा है बीआरसी ने कैमरा के सामने कहा कि निश्चित रूप से कलेक्टर सिंगरौली केबीएस चौधरी प्रदेश के अच्छे कलेक्टरों में से एक हैं और अवश्य इस मामले को गंभीरता से लेकर डीईओ के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करेंगे बीआरसी ने यह भी कहा कि इस मामले की शिकायत तमाम जगह की जाएगी और निश्चित रूप से कार्यवाही कराने की पूरी कोशिश की जाएगी और यदि कार्यवाही नहीं होती है तो स्वयं में ही नहीं बल्कि शिक्षा विभाग के ढेर सारे कर्मचारी लामबंद हो जाएंगे और हम सब उनके खिलाफ सड़कों पर उतर जाएंगे फिलहाल मामला अभी भी गरमाया है हालांकि इस पूरे प्रकरण में किसी उच्च अधिकारियों का अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है क्योंकि जिले के कलेक्टर भोपाल मीटिंग में शामिल होने गये है अब देखने वाली बात यह होगी कि किस तरह की और कब कार्यवाही सामने आती है हालांकि बीआरसी का कहना है की हम डीईओ का बहुत सम्मान करते थे लेकिन डीईओ ने मां की गाली देकर बहुत बड़ा अन्याय किया है और शिक्षा विभाग को शर्मशार करने का प्रयास किये है

डीईओ के अलग है तर्क

इस पुरे मामले पर डीईओ का तर्क है की सम्बंधित अधिकारी अपने दायित्त्व का निर्वाहन ईमानदारी से नहीं कर रहा बल्कि गली कूचो में ऐसे स्कूलों को मान्यता की सिफारिस कर रहे है जो किसी भी तरह से नियमो में नहीं आते दो कमरों में स्कूल संचालित कर रहे है जब हमने जांच की तो खुद की गर्दन फस्ती देख इस तरह की हरकते कर रहे है बहरहाल ये तो डीईओ का तर्क है पर सायद ये पूरा सच नहीं है बल्कि आधा सच है क्योकि जिला शिक्षा अधिकारी बृजेश मिश्रा पहले से बड़े चर्चित रहे है और खुद को मुगलेआजम और बाकी को अनारकली समझने वाले स्वभाव वाले है

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here