मध्यप्रदेश

रद्द हो सकता है इनका राज्यसभा नामांकन !

भोपाल | Rajya Sabha Election राज्यसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा उच्च शिक्षा विभाग में सरकारी सेवा में कार्यरत सहायक प्राध्यापक डॉ सुमेर सिंह सोलंकी को भी प्रत्याशी बनाया है लेकिन उनका इस्तीफा अभी तक स्वीकार नही हुआ है और इस स्थिति में डॉ सुमेर सिंह सोलंकी का नामांकन रद्द हो सकता है ।

Dr Anuj Pratap Singh
JANTA
IMG-20210305-WA0003

राजपत्रित पद पर कार्यरत होने के कारण सोलंकी का इस्तीफा राज्य सरकार यानी उच्च शिक्षा मंत्री के अनुमोदन से ही स्वीकार किया जा सकता है।  16 मार्च तक इस्तीफा स्वीकार नहीं हुआ तो सोलंकी का नामांकन रद्द भी हो सकता है।सूत्रों की माने तो डॉ सुमेरसिंह सोलंकी के नाम की सिफारिश राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा की गई थी। सोलंकी ने शासकीय सेवा में आने से पहले वनवासी कल्याण आश्रम के लिए लंबे समय तक काम किया है ।

कौन लेगा डॉ सुमेर सिंह सोलंकी की जगह
भाजपा ने प्रदेश में चल रहे मौजूदा सियासी संकट को देखते हुए यह अनुमान लगाया कि संभवतः डॉ सुमेर सिंह सोलंकी का इस्तीफा 16 मार्च तक स्वीकार नही होगा इसलिए पूर्व मंत्री रंजना बघेल से भी नामांकन जमा करवाया है। अगर सुमेर सिंह सोलंकी का नामांकन निरस्त हुआ तो ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा आदिवासी वर्ग का प्रतिनिधित्व करने वाली रंजना बघेल भाजपा की दूसरी राज्यसभा प्रत्याशी होंगी ।

IMG-20210124-WA0016
RED MOMENTS STUDIO

विज्ञापन

SATNANEWS.NET पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें

Comment here